Skip to content
Affiliate Marketing

एफिलिएट मार्केटिंग कैसे शुरू करे और इससे पैसे कैसे कमाए | How To Start Affiliate Marketing And Earn Money

Start Affiliate Marketing Business: दोस्तों आज कल हर कोई ऑनलाइन पैसे कामना चाहता है पर उन्हें ऑनलाइन पैसा कैसे कमाया जाता है यह पता ही नहीं है। आज कल ऑनलाइन पैसा कमाने के बोहोत से जिरए उपलब्ध है उनमेसे ही एक Affiliate Marketing के बारेमे आज हम लोग सिखने जा रहे है।

Affiliate Marketing यह विदेशी देशो में बहोत ही लोकप्रिय संकल्पना है जिसके जिरए कई लोग विदेशो में पैसिव इनकम कमा पा रहे है, और हल ही में भारत में Affiliate Marketing की संकल्पना यह लोकप्रिय होने लगी है और कई नवयुवक और लोग इसे करनेमे उत्सुक है और कई तो एफिलिएट मार्केटिंग से लाखो की कमाई तो पहले से ही कर रहे है।

तो दोस्तों आज हम लोग इस लेख में इसी चीज के बारेमें जानने जा रहे है की कैसे आप एफिलिएट मार्केटिंग की शुरुवात करके उसके जिरए एक अच्छी खासी इनकम कमा सकते है।

Affiliate Marketing क्या है ? | What is Affiliate Marketing?

दोस्तों आज हम लोग जानेंगे की affiliate marketing kya hai और इसे kaise start karen। एफिलिएट मार्केटिंग यह एक ऑनलाइन इंटरेनट के माध्यम से पैसे कमाने का जरिया है, जिसमे आप किसी और कंपनी के प्रोडक्ट का लोगोंको सुझाव देकर उनके द्वारा उस प्रोडक्ट के ख़रीदे जाने पर उसपे मिलनेवाले कमीशन से पैसे कमाते है। चलिए इसे आसान भाषा में समझते है।

मान लीजिये आपने किसी कपनी के प्रोडक्ट के प्रचार के लिए उस कंपनी के Affiliate Program को साइन अप किया और आपने उन प्रोडक्ट का प्रचार करके कुछ लोगो को वध प्रोडक्ट बेच दिए तो कंपनी आपको उन प्रोडक्ट के बिक्री पर एक तय प्रतिशत का मुनाफा देती है जिसे हम लोग Affiliate Commission भी कहते है। अलग अलग कंपनी के प्रोडक्ट के सेल पर आपको अलग अलग प्रतिशत में कमीशन मिलेगी याने किसी प्रोडक्ट पे ५% तो किसी प्रोडक्ट पे ६०% यह कमीशन आपकी स्किल्स और आपके Niche पर निर्भर करती है की आप कौनसे क्षेत्र के प्रोडक्ट प्रचार कर रहे हो।

दोस्तों आपको Affiliate प्रोडक्ट का प्रचार करने के लिए घर घर जाकर प्रोडक्ट को बेचने की कोई जरुरत नहीं यही। यहाँ आपको आपकी इंटरनेट मार्केटिंग की स्किल का इस्तेमाल करके आपके उस प्रोडक्ट के वेबसाइट पर लोगोको भेजना है और उनमेसे जो लोग आपके द्वारा वह प्रोडक्ट्स खरीदेंगे आपको उसका कमीशन मिल जायेगा।

Affiliate Marketing कैसे शुरू करे और ये काम कैसे करता है? | How to Start Affiliate Marketing & How It Works?

दोस्तों अगर आप अपना खुदका Affiliate Marketing से जुड़ा बिज़नेस करना चाहते है तो सबसे पहले आपको Affiliate Marketing की तौर पे खुदको रजिस्टर करना होगा। उसके लिए आपको सबसे पहले आप किस टॉपिक पर काम करना चाहते है और किस तरह से उसे प्रमोट करना चाहते है उसे उसकी एक रन नीति बना ले।

फिर उस टॉपिक से जुड़े कुछ Affiliate Marketing Program या वेबसाइट पर रजिस्टर कर ले। रजिस्टर कर लेने के बाद जैसे ही आपका उस Affiliate Marketing की वेबसाइट पर अप्रूवल हो जायेगा आपको उनके तरफ से आपकी एक यूनिक affiliate ID तथा affiliate link मिलेगी जिस पर आपको आपकी वेबसाइट से ट्रैफिक भेजना रहता है।

अगर आप किस थर्ड पार्टी affiliate वेबसाइट से जुड़के एफिलिएट मार्केटिंग करना चाहते है तो सबसे पहले आपको उस वेबसाइट पर जा के रजिस्टर करके लॉगिन कर लेना है। फिर उस थर्ड पार्टी affiliate वेबसाइट पर आपके टॉपिक से रिलेटेड प्रोडक्ट का चयन करना है और उन तरफ से उनके प्रोडक्ट्स को प्रमोट करने का आप्रोवल ले लेना है। जैसे ही आपको अप्रूवल मिल जायेगा वहासे आपको उस प्रोडक्ट का एक यूनिक affiliate लिंक मिलेगा जहाँपर आपको आपकी वेबसाइट से ट्रैफिक भेजन है।

अगर आपकी भेजी हुई ट्रैफिक द्वारा अगर कोई व्यक्ति उस प्रोडक्ट को खरीदता है या उस सेवा या प्रोडक्ट का लाभ उठाता है तो आपको आपके तय कमीशन के हिसाब से एक आपकी अमाउंट आपके affiliate अकाउंट में जमा कर दी जाएगी और जैसे ही आप एक तय वितरवाल सिमा तक पोहोचोगे फिर आप उस राशि को अपने बैंक अकाउंट में ट्रांसफर कर सकते हो। .

Affiliate Marketing से किन तरीकोंसे पैसा मिलता है? | In What Ways Do You Get Money From Affiliate Marketing?

क्या आपको Affiliate Marketing से पैसे कमाने के लिए हर बार सेल लाना जरुरी है?

दोस्तों हर दम आपमें से कई लोगो के मन में यह सवाल तो आता ही रहेगा। तो चलिए आज हम लोग इस सवाल का जवाब जानते है।

दोस्तों Affiliate Marketing से पैसे कमा ने के लिए आपको हमेशा प्रोडक्ट्स को बेचने या सेवा उपलब्ध करने की जरुरत नहीं होती है। क्यों की हर एक Affiliate Marketing के लिए सेल यह एक अलग तरीकेसे काम करता है। तो चलिए आज इन तरीको को समझे है।

PPC (Pay per Click) :- दोस्तों ऑनलाइन मार्केट में कई तरह के Affiliate Marketing program है जो Pay Per Click तरीकेसे काम करके है। इस तरीके में आपको आपके उस Affiliate Marketing Program के तहत दिए गए यूनिक लिंक पर या उनके द्वारा दिए गए Advertising मटेरियल पर जैसे की बैनर वीडियो इत्यादि पर आपको ट्रैफिक भेजना रहता है। आप जितना ज्यादा उस लिंक के जरिये ट्रैफिक भेजेंगे फिर चाहे आपके द्वारा भेजे हुए वह लोग कस वेबसाइट से कुछ ख़रीदे यान न ख़रीदे आपको आपका कमीशन मिल जाता है।

PPL (Pay Per Lead) :- दोस्त Pay Per Lead तरीके में आपको उस Affiliate Marketing Program के तहत मिले उस लिंक पर ट्रैफिक तो भेजना है लेकिन उन भेजे हुए ट्रैफिक में से कितने लोग उस लिंक पर दिए लीड फॉर्म को पूरा करते है उस पर आपकी कमीशन निर्भर करती है। यह लीड कोनसे भी हो सकते है जैसे की आपका ईमेल आयडी आपका मोबाइल नंबर, आपकी बेसिक जानकारी इत्यादि।

PPS (Pay Per Sale) :- दोस्त Pay Per Sale के अंतर्गत आपको आपके Affiliate Marketing Program द्वारा दिए गये लिंक पर ट्रैफिक भेकजे सेल लाना है। आपके द्वारा भेजे गए ट्रैफिक में से जितने ज्यादा लोग उनके वेबसाइट से कुछ न कुछ खरीदेंगे फिर चाहे वो प्रोडक्ट हो या कोई सेवा उस हिसाब से आपको आपका कमीशन मिलता रहेगा।

Affiliate Marketer बनने के लिए आवश्यकताएँ | Requirements to Become affiliate marketer

एक एफिलिएट बनने के लिए सबसे आवश्यक है, आपके पास एक वेबसाइट का होना, जिस पर आप अलग – अलग एफिलिएट प्रोग्राम को लिंक्स कर सकते हैं। ताकि आपकी वेबसाइट में उसके विज्ञापन प्रदर्शित हो और आप उसे प्रमोट कर कमीशन प्राप्त कर सकें।

काम करने के लिए सर्वश्रेष्ठ Affiliate Marketing कंपनियों का चुनाव कैसे करें? | How to Choose Best Affiliate Marketing Companies for Work With?

दोस्तों अगर आप आपके Affiliate Marketing की नई शुरुवात कर रहे है तो सबसे पहले आपको काम करने के लिए के अच्छे Affiliate Marketing Program या कंपनी का करना होता है जो की सबसे महत्व पूर्ण है। किसी भी अच्छे एफिलिएट मार्केटिंग कंपनी या प्रोग्राम का चयन आप ३ चीजों पर कर सकते है जो की निचे निम्नलिखित है।

कंपनी या उस प्रोग्राम की जानकरी

दोस्तों किसी ही एफिलिएट मार्केटिंग कंपनी या उस प्रोग्राम को शुरू करने से पहले आपको उस कंपनी के बारेमे समझ ले। उनके कमीशन रेट, पेमेंट टर्म्स, वर्किंग टर्म्स और प्रोडक्ट प्रमोशन की गाइडलाइन्स को अच्छेसे पढ़ ले एवं उनकी पात्रता जांच की सूचि को भी समझ ले। जब आपको लगे की यह affiliate कंपनी आपके लिए सही है तो उसके बाद अगला स्टेप फॉलो करे।

कंपनी या प्रोग्राम का मार्किट रिसर्च

दोस्तों जब आप एफिलिएट मार्केटिंग कंपनी या उस प्रोग्राम को अच्छेसे समझ ले उसके बाद आपने अपना मार्किट रिसर्च सुरु करना होता है। इसमें आपको उस कंपनी या प्रोग्राम के प्रोडक्ट को कितने लोग प्रमोट कर रहे है, उनका कन्वर्शन रेट क्या है, उनका प्रोडक्ट रिव्यु और प्रोडक्ट की वापसी का रेट क्या है यह जानकारी आपको आपके रिसर्च के माध्यम से निकालनी होती है। इस रिसर्च के लिए आप गूगल एवं अन्य कई ऑनलाइन टूल्स का इस्तेमाल कर सकते है। साथ ही साथ उस प्रोडक्ट को प्रमोट करनेवाले कुछ Affiliate Marketer से भी बाटे कर सकते है। मार्किट रिसर्च हो जाने के बाद आप आपका अगला स्टेप ले सकते है।

कंपनी का पेमेंट रिकॉर्ड जाचे

दोस्तों एफिलिएट मार्केटिंग शुरू करने से पहले आपको उस कंपनी के पेमेंट रिकॉर्ड के बारेमे में जानना बेहद जरुरी है। इस बारेमे जानकारी पाने के लिए आप गूगल तथा उस कंपनी या प्रोग्राम के Affiliate Manager से बात सकते है और चाहे तो उस कंपनी को प्रमोट करने से पहले उस प्रोग्राम या कंपनी से जुड़े Affiliate Marketer से भी बात कर सकते है।

यह सब जानकारी प्राप्त करने के बाद ही आप अपने Affiliate Marketing की शुरुवात करे। जिससे आपको उस कंपनी के प्रोडक्ट प्रमोट करने में आसानी हो और आप इससे एक अच्छी खासी इनकम प्राप्त कर सके।

एफिलिएट मार्केटिंग के फायदे | Pros of Affiliate Marketing

दोस्तों चलिए तो अबAffiliate Marketing से जुड़े फायदों को समझते है।

  • एफिलिएट मार्केटिंग में आप जब चाहे जहसे चाहे काम कर सकते है जिसके वजहसे आपको टाइम का फ्रीडम मिलता है।
  • एफिलिएट मार्केटिंग में आपको खुदसे किसी प्रोडक्ट को बनाने या उसकी सेवा देने की आवशक्यता नहीं पड़ती है
  • एफिलिएट मार्केटिंग में आपको किसिस प्रोडक्ट को स्टॉक करने की या उसे उसे शिप करने की कोई जरुरत नहीं पड़ती है।
  • एफिलिएट मार्केटिंग करनेके लिए आपको लैपटॉप और इंटरनेट कनेक्शन बस इन दो चीजों की आवश्यकता होती है।
  • एफिलिएट मार्केटिंग में आपको पैसिव इनकम कमाने का मौका मिलता है

एफिलिएट मार्केटिंग से नुकसान | Cons of Affiliate Marketing

दोस्तों तो चलिए अब Affiliate Marketing से जुड़े नुकसान को समझते है।

  • एफिलिएट मार्केटिंग में एक स्टेबल इनकम कमाने के लिए आपको समय और साथ ही साथ थोड़ा धैर्य भी रखने की जरुरत है।
  • एफिलिएट मार्केटिंग की इनकम यह आपके दवारा भेजे हुए ट्रैफिक पर निर्भर करती है।
  • एक खराब एफिलिएट मार्केटिंग कंपनी या प्रोग्राम का चयन आपकी ऑनलाइन विश्वसनीयता को ख़राब कर सकता है।
  • एफिलिएट हैकिंग भी हो सकती है इसलिए अपना एफिलिएट लिंक हमेशा मास्किंग करके रखे ,
  • एफिलिएट मार्केटिंग में प्रतिस्पर्धाएं बोहोत है।

निष्कर्ष

दोस्तों अगर आप आपके Affiliate Marketing के करियर की शुरुवात कर हहै हो तो आपके लिए यह लेख बेहत भी फायदेमंद है। इस लेख में हम लोगोने Affiliate Marketing से जुडी हर एक चीज को अच्छेसे जाना एवं समझा है जो की आपके Affiliate Marketing के शुरुवाती कदमो के लिए बेहद ही फायदेमंद है। अगर आप चाहे तो आप amazon affiliate program से भी आपकी शुरुवात कर सकते है।

अगर आपको इस लेख में दी गई Affiliate Marketing की जानकरी अच्छी लगी हो तो इसे अपने दोस्तों एवं रिश्तेदारों से साँझा करना न भूले।

इसे भी पढ़े :-

Blogging कैसे की जाती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.